USB क्या है ? USB Full Form In Hindi

0
161
USB Full Form In Hindi
जानकारी पसंद आये, तो पोस्ट शेयर जरूर करे
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

usb full form | usb full form in hindi || full form of usb

हम इस आर्टिकल में आज जानेंगे USB क्या है USB इन हिंदी USB का फुल फॉर्म क्या होता है USB के प्रकार कितने हैं और और वह किस वर्जन पर काम करता है. आज हर इंसान USB के बारे में जानता है लेकिन वह यह नहीं जानता कि USB Kya Hai, और USB Ka FullForm Kya Hai.

आप इस पोस्ट को शुरू से लेकर अंत तक पढ़े आपको USB In Hindi के बारे में संपूर्ण जानकारी इस आर्टिकल के माध्यम से आपको मिल जाएगी.

USB का यूज़ हम डाटा को शेयर करने के लिए करते हैं, USB के जरिए ही हम डाटा, म्यूजिक, मूवी, फोटोस को अपने कंप्यूटर में ट्रांसफर कर सकते है, तो चलिए जानते हैं USB क्या है और इस का फुल फॉर्म क्या है। 

USB Ka Fullform Kya Hai In Hindi ( USB का फूल फॉर्म क्या है जाने हिन्दी में )

USB का फुल फॉर्म होता है, Universal Serial Bus ( यूनिवर्सल सीरियल बस )

USB एक पोर्ट की तरह ही होता है जिसमें हम किसी दूसरे डिवाइस को अपने कंप्यूटर या Pc से कनेक्ट कर सकते हैं। सब कंप्यूटर में USB पोर्ट होता है जिसकी मदद से हम कीबोर्ड को, माउस को, और प्रिंटर इत्यादि को हम हार्डवेयर के साथ कनेक्ट कर सकते हैं। USB पोर्ट के जरिए हम आसानी से किसी भी डिवाइस को प्लग एंड प्ले किया जा सकता है। इसमें हमको अपने पर कंप्यूटर या laptop को रीस्टार्ट करने की भी कोई जरूरत नहीं है। USB का यूज़ एक डाटा को USB के माध्यम से किसी और डिवाइस पर ट्रांसफर करना होता है।

USB पोर्ट से हमें किसी भी हार्डवेयर को कनेक्ट करना हो तो हमें उस हार्डवेयर मैं USB सपोर्टेड केबल का यूज करना होगा। स्केैनर या प्रिंटर को USB Pro टेबल केबल से कनेक्ट किया जाता है।

कीबोर्ड या माउस में USB केबल लगी होती है जिससे CPU कनेक्ट करते हैं।

USB Kya hai In Hindi ( USB क्या है )

USB क्या है यह जानने से पहले हम जानते हैं की USB का आविष्कार किसने किया।

USB का आविष्कार हमारे भारत देश में हुआ है, अजय भट्ट नामक एक इंजीनियर ने इंटेल की कंपनी में जो बहुत बड़ी कंपनी है उसमें USB का आविष्कार किया था। इन्होंने इस आविष्कार में एक प्रिंटर को कंप्यूटर के साथ एक USB के माध्यम से जुड़ा था।

उस वक्त इतिहास की बात करें तो सबसे पहले USB 1.0 की खोज की गई थी इसका आविष्कार किया गया था। हमारे ही देश के एक भारतीय ने इसका आविष्कार किया था।

USB केबल का उपयोग आप केवल छोटी दूरियों तक ही सकते हैं, केवल हम इसमें वही हार्डवेयर को कनेक्ट कर सकते हैं जो कंप्यूटर के नजदीक होते हैं। USB केबल की मदद से हम कंप्यूटर हार्डवेयर से डाटा ट्रांसफर कर सकते हैं। CPU में USB कनेक्शन के कुछ पोर्ट बने होते हैं जो कंप्यूटर कैबिनेट मैं पीछे और आगे की तरफ होते है, और इन सब USB पोर्ट्स को मदर बोर्ड मैं कनेक्ट किए जाते हैं।

आजकल हर कंप्यूटर ऑपरेटिंग सिस्टम USB को सपोर्ट करते हैं। अब यह सॉफ्टवेयर विंडो के साथ प्री इंस्टॉल ही आते हैं।

Types Of USB – यूनिवर्सल सीरियल बस के प्रकार

Universal Serial Bus तीन प्रकार के होते हैं इन्हें हम USB कनेक्टर के नाम से भी जानते हैं। USB टाइप A, USB टाइप B और USB टाइप C चले एक-एक करके समझते हैं।

1. USB टाइप A – इस टाइप का USB पोर्ट आपके लैपटॉप या CPU में मिलता है, और इस टाइप के USB का Use सबसे ज्यादा होता है। इस टाइप का USB अन्य टाइप के USB से आकार में बड़ा होता है।

2. USB टाइप B – इस टाइप के USB का यूज़ अब कम होता है लेकिन लैपटॉप और CPU मैं इसका एक पोर्ट दिया जाता है। इस प्रकार के पोर्ट का इस्तेमाल माइक्रो वर्जन मोबाइल चार्जर में कर सकते हैं और हम इसका उपयोग प्रिंटर में भी कर सकते हैं।

3. USB टाइप C – इस प्रकार का USB आकार में छोटा होता है और इसका इस्तेमाल मोबाइल चार्जर में आता है और इसकी एक खास बात है कि इसे हम दोनों और से कनेक्ट कर सकते हैं।

USB के वर्जन ( यूनिवर्सल सीरियल बस )

USB के वर्जन के नाम हिंदी में –

USB 1.0 – या वर्जन USB का सबसे पहला वर्जन था जो 1996 मैं लांच हुआ था और इस वर्जन की स्पीड 1.5 mb/s थी.

USB 2.0 – इस वर्जन का कंप्यूटर में सबसे अधिक इस्तेमाल किया जाता है और इस वर्जन को वर्ष 2000 मैं लांच किया था और इस USB 2.0 की डाटा ट्रांसफर की स्पीड 480 Mb/s है.

USB 3.0 – इस वर्जन की शुरुआत वर्ष 2008 की गई थी और इस वर्जन के डाटा ट्रांसफर की स्पीड 5 Gb/s है. इस USB 3.0 के पोर्ट का रंग नीला होता है और इससे इसकी पहचान भी होती है।

USB 3.1 – इस वर्जन की डाटा ट्रांसफर डर की स्पीड 10 Gb/s है और इस वर्जन की शुरुआत Years 2013 में हुई थी।

USB 3.2 – यह वर्जन अब तक का सबसे फास्ट वर्जन है और यह लांच वर्ष 2017 मैं हुआ था। इस USB 3.2  वर्जन की स्पीड दर 20 Gb/s है।

USB In Hindi ( यूनिवर्सल सीरियल बस इन हिंदी )

मोबाइल, कंप्यूटर, लैपटॉप, टीवी इत्यादि में USB पोर्ट होता है। कंप्यूटर के CPU कैबिनेट मैं यह 2 से 6 पोर्ट होते हैं, लेकिन लैपटॉप में 2 से 4 ही पोर्ट होते है। यहां सब मैन्युफैक्चरिंग USB पोर्ट की कंपनियों पर डिपेंड होता है।

कंप्यूटर हार्डवेयर में भी यह USB पोर्ट होता है और माउस, कीबोर्ड, प्रिंटर, माइक्रोफोन, स्केनर इत्यादि में भी  USB पोर्ट आते हैं।

आजकल हम सब मोबाइल चार्ज करने के लिए USB केबल का इस्तेमाल करते हैं। अगर हमें अपने कंप्यूटर से कोई डाटा या फिर अपने मोबाइल से कोई मूवी, वीडियो, सॉन्ग, यह जो भी हो अपने कंप्यूटर में ट्रांसफर करना होता है तो हमें USB केबल की जरूरत पड़ती है।


इन्हे भी जरूर पढे:-


 

पेन ड्राइव, कार रीडर भी इस तरह ही होता है जो CPU के USB पोर्ट में लगते हैं। आजकल तो आप डिजिटल कैमरा में भी USB होता है और पावर बैक से इमरजेंसी हम USB के द्वारा मोबाइल चार्ज भी कर सकते है।

निवेदन : दोस्तों आपको हमारी यह पोस्ट USB Full Form In Hindi कैसी लगी हमें कमेंट करके जरूर बताएं और आपका कोई सुझाव या कोई सवाल हो इस पोस्ट के रिलेटेड तो भी आप हमें कमेंट के माध्यम से बता सकते हैं हमें आपके सवाल का जवाब देने में खुशी होगी।

अगर आपको हमारी यह USB Kya Hai पोस्ट पसंद  आई हो तो आप लोग इस आर्टिकल को अपने दोस्तों के साथ फेसबुक, व्हाट्सएप, टि्वटर इत्यादि सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर शेयर कर सकते हैं।


जानकारी पसंद आये, तो पोस्ट शेयर जरूर करे
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here